Forgot password?    Sign UP
Raja Ram Mohan Roy Jayanti : 22nd May

Raja Ram Mohan Roy Jayanti : 22nd May



2022-05-24 : हाल ही में, 22 मई 2022 को पुरे भारत में राजा राम मोहन राय की 250वीं जयंती (Raja Ram Mohan Roy Jayanti : 22nd May) मनाई गई है। आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दे की आधुनिक भारत का निर्माण करने वाले राजा राम मोहन राय का जन्म 22 मई 1772 को पश्चिम बंगाल में हुगली जिले के राधानगर गांव में हुआ था। प्रतिवर्ष राजा राम मोहन राय की जयंती हर्सोल्लास के साथ मनाई जाती है उनके द्वारा किए गए कार्यों को सम्मानित किया जाता है।

About Raja Ram Mohan Roy In Hindi :



राजा राम मोहन राय दिमाग के इतने तेज थे कि महज 15 साल की उम्र में उन्होंने बांग्ला, अरबी, संस्कृत और पारसी भाषा सीख ली थी। आपको बता दे की राजा राममोहन मूर्तिपूजा और रूढ़िवादी हिन्दू परंपराओं के विरुद्ध थे, यही नहीं बल्कि वह सभी प्रकार के अंधविश्वास के खिलाफ थे।

राजा राम मोहन राय (raja ram mohan roy history) सती प्रथा, बाल विवाह जैसी कुरीतियों के सख्त खिलाफ थे। उन्होंने गवर्नर जनरल लार्ड विलियम बेंटिक के जरिए सती प्रथा के खिलाफ तो कानून भी बनवा दिया था। उनका मानना था जब वेदों में सती प्रथा का जिक्र नहीं है तो ये समाज भी नहीं होने चाहिए।

इन सबके अलावा राय हमेशा महिलाओं के हक के लिए भी लड़ते थे। राय ने महिलाओं के संपत्ति में हक जैसे कई अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी। कुल मिलाकर बात ये थी की राजा राम मोहन राय समाज को कुरीतियों से आजाद कराना चाहते थे।

इसका नतीजा ये हुआ की 19वीं सदी के सामाजिक और धार्मिक सुधारक राजा राम मोहन राय ने ब्रह्म समाज की स्थापना की जिसका उद्देश्य समाज में प्रचलित सामाजिक बुराइयों से लड़ना था।

Provide Comments :