Forgot password?    Sign UP
‘जेर्री’ बना केंद्र शासित प्रदेश जम्मू & कश्मीर का पहला दुग्ध गांव

‘जेर्री’ बना केंद्र शासित प्रदेश जम्मू & कश्मीर का पहला दुग्ध गांव



2022-01-22 : हाल ही में, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने रियासी जिले के "जेर्री" गांव को केंद्र-शासित प्रदेश का पहला ‘दुग्ध गांव (Milk Village)’ घोषित किया है। यहाँ प्रशासन ने "एकीकृत दुग्ध विकास योजना" के तहत जेर्री के लिए 57 अतिरिक्त डेयरी फार्म को मंजूरी भी दे दी है। फिलहाल इस गाँव में कुल 73 डेयरी फार्म मौजूद हैं जिनमें 370 गाय हैं। ‘दुग्ध गांव’ का दर्जा मिलने से स्थानीय डेयरी संचालकों को वित्तीय सुरक्षा हासिल होगी।

एकीकृत दुग्ध विकास योजना के बारें में :



# एकीकृत डेयरी विकास योजना के तहत पांच पशुओं की डेयरी इकाइयों को 50% अनुदान दिया जाता है।

# इस योजना में दूध देने की मशीन, थोक दूध शीतलन इकाई, पनीर बनाने की मशीन, खोया बनाने, दही बनाने, क्रीम विभाजक, आइसक्रीम बनाने की मशीन, मक्खन और घी बनाने की मशीन आदि पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी (अधिकतम 5 लाख रुपये) दी जाती है।

Provide Comments :