Forgot password?    Sign UP
प्रो. सुमन चक्रवर्ती को मिला वर्ष 2020 का घनश्याम दास बिड़ला वैज्ञानिक शोध पुरस्कार

प्रो. सुमन चक्रवर्ती को मिला वर्ष 2020 का घनश्याम दास बिड़ला वैज्ञानिक शोध पुरस्कार





2021-04-06 : हाल ही में, के के बिरला फाउंडेशन द्वारा वर्ष 2020 का "घनश्याम दास बिड़ला वैज्ञानिक पुरस्कार" प्रो. सुमन चक्रबर्ती को दिए जाने की घोषणा की गई है। पाठकों को बता दे की प्रो. सुमन चक्रबर्ती ने इंजीनियरिंग विभाग में और सस्ती स्वास्थ्य सेवाओं के लिए तकनीकियों के विकास में उसके इस्तेमाल के लिए उत्कृष्ट योगदान दिया है।

घनश्याम दास बिड़ला पुरस्कार के बारें में :-



# इस पुरस्कार के तहत पांच लाख रुपये की राशि प्रदान की जाती है।

# यह पुरस्कार हर वर्ष भारत में काम कर रहे 50 वर्ष या उससे कम आयु के भारतीय वैज्ञानिकों के उल्लेखनीय वैज्ञानिक कार्य को मान्यता देने के उद्देश्य से दिया जाता है।

# इस पुरस्कार का चयन एक बोर्ड द्वारा किया जाता है जिसकी अध्यक्षता नई दिल्ली स्थित भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी के अध्यक्ष करते हैं।

प्रो. सुमन चक्रबर्ती के बारें में :-



# प्रो. सुमन चक्रबर्ती वर्तमान में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर में प्रोफेसर हैं।

# वह दुनिया में पहली बार पेपर और पेंसिल माइक्रोफ्लुइडिक्स पेश करने वाले रहे हैं।

# प्रो. सुमन चक्रबर्ती ने इंजीनियरिंग विभाग में और सस्ती स्वास्थ्य सेवाओं के लिए तकनीकियों के विकास में उसके इस्तेमाल के लिए उत्कृष्ट योगदान दिया है।

# प्रो. चक्रबर्ती ने 1996 में जादवपुर विश्वविद्यालय से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में अंडर-ग्रेजुएट की डिग्री प्राप्त की।

# उसके बाद क्रमश: 1999 और 2002 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु से पोस्ट-ग्रेजुएट और पीएचडी की।

Provide Comments :





Related Posts :